धर्म - संस्कृति

चारो धामों के कपाट खुलने की तिथि और मुहूर्त तय।

अक्षय तृतीया पर 18 अप्रैल को खुलेंगे यमनोत्री के कपाट।
यमुना महोत्सव के मौके पर यमनोत्री मंदिर समिति और तीर्थ पुरोहितो ने निकाला शुभ मुहर्त।
शिद्धि योग, अभिजीत मुहर्त में दोपहर  12:15 पर खुलेंगे यसमनोत्री के कपाट।
18 अप्रैल की सुबह 9 बजे खरसाली से निकलेगी यमुना माता की डोली यात्रा।
यमुना के भाई शनि महाराज कज अगुवाई में निकलेगी माँ की डोली यात्रा।
यमराज और शनिदेव की बहिन है यमुना।
गिरीश गैरोला
अक्षय तृतीया के मौके पर अभिजीत मुहर्त और सिद्धि योग में  यमनोत्री  मंदिर के कपाट 18 अप्रैल  दोपहर  12:15 पर भक्तों  के लिए खोल दिए जाएंगे यमनोत्री मंदिर समिति के सचिव कृतेस्वर उनियाल ने बताया कि हर वर्ष अक्षय तृतीया के पावन मौके पर यमुनोत्री के कपाट खोले जाते हैं, किंतु कपाट खुलने का शुभ मुहूर्त यमुना दिवस के मौके पर ही यमुनोत्री मंदिर समिति और तीर्थ पुरोहित  ज्योतिषीय गणना के बाद तय करते हैं । आज 23 मार्च को यमुना महोत्सव के मौके पर शुभ मुहूर्त निकाला गया है उन्होंने बताया कि 18 अप्रैल को ठीक ठीक 9:00 बजे सुबह यमुना माता की  डोली भक्तों के कंधों  पर पारंपरिक वाद्य यंत्रों के साथ यमुनोत्री के लिए प्रस्थान करेगी। इस दौरान माता की डोली की अगुवाई के लिए यमुना के भाई शनि महाराज की डोली आगे चलती है। अक्षय तृतीया के पावन मौके पर यमुनोत्री मंदिर दर्शन जमुना जल में स्नान का महत्व बताया गया है ।
उत्तराखंड की चारधाम यात्रा की शुरुआत यमनोत्री  धाम से ही होती है । यमुनोत्री भक्ति का प्रतीक,  गंगोत्री ज्ञान का केदारनाथ  वैराग्य का और  बद्रीनाथ धाम मोक्ष का प्रतीक माना गया है और इसी क्रम में धार्मिक यात्रा की जाती है
अप्रैल माह में खुलेंगे उत्तराखंड के चार धाम 
उत्तराखंड स्थित चारों  धाम – श्री बदरीनाथ, श्री केदारनाथ, श्री गंगोत्री, श्री यमुनोत्री के यात्रा वर्ष 2018 में कपाट खुलने की तिथियाें का एेलान हो चुका है। श्री बदरीनाथ धाम के कपाट 30 अप्रैल को प्रात:4.30 बजे दर्शनार्थ खुलेंगे।, श्री केदारनाथ मंदिर के कपाट 29 अप्रैल प्रात: 6.15 मिनट पर खुलेंगे। श्री गंगोत्री मंदिर के कपाट 18 अप्रैल दिन में 1.15 मिनट पर खुलेंगे। श्री यमुनोत्री मंदिर के कपाट   18 अप्रैल   12 बजकर 15 मिनट पर दिन में श्रद्धालुओं के  दर्शनार्थ खोले जायेंगे।
यमुनोत्री के तीर्थ पुरोहित पुरुषोत्तम उनियाल ने बताया कि आज चैत्र शुक्ल षष्टी के दिन गोलोक धाम से जय मुनि महाराज माता यमुना को कालिंदी पर्वत पर लेकर आए थे इसलिए यमुनोत्री धाम में आज यमुना माता का प्राकट्य दिवस मनाया जाता है यही कारण है कि इस शुभ दिन पर ही   यमुनोत्री में कपाट खुलने का मुहूर्त तय किया जाता है
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: