धर्म - संस्कृति

18 अप्रैल को खुलेंगे गंगोत्री – यमनोत्री के कपाट

18 अप्रैल को खुलेंगे गंगोत्री यमनोत्री के कपाट। अक्षय तृतीया को खुलते है कपाट।उत्तराखंड में 18 अप्रैल से चार धाम यात्रा का आगाज

गिरीश गैरोला

उत्तराखंड में के उत्तरकाशी जनपद में स्थित गंगोत्री और यमुनोत्री तीर्थ धाम के कपाट अक्षय तृतीया के मौके पर 18 अप्रैल को खुल रहे हैं। इसके साथ ही उत्तराखंड में चार धाम की यात्रा का शुभारंभ हो जाएगा। चैत्र प्रतिपदा नवरात्रि के शुभ मौके पर गंगोत्री मंदिर समिति , तीर्थ पुरोहितों के साथ कपाट खुलने का मुहूर्त तय करती है जो इस बार 1:15 पर तय हुआ है।

यमुनोत्री के कपाट भी परंपरा अनुसार अक्षय तृतीया के दिन 18 अप्रैल को ही खुलने जा रहे हैं , किंतु कपाट खुलने का शुभ मुहूर्त यमुनोत्री मंदिर समिति तीर्थ पुरोहितों के साथ यमुना महोत्सव- यमुना जयंती यह दिन ही तय करती है। मान्यता है कि चैत्र शुक्ल षष्टी के दिन गौ लोक धाम से मां यमुना का पृथ्वी पर अवतरण हुआ।  इस वर्ष यमुना महोत्सव 23 मार्च को पड रहा है।  इसी दिन यमुनोत्री मंदिर के कपाट खुलने का शुभ मुहूर्त तय किया जाएगा।

इस वर्ष मां यमुना का अपने मायके खरसाली गांव में अपना अलग मंदिर बनकर तैयार हो गया है । यमनोत्री के तीर्थ पुरोहित पवन उनियाल ने बताया कि 3अप्रैल को यमुना यज्ञ के साथ माता यमुना की उत्सव डोली अपने इस मंदिर में स्थापित होगी। 3 से 11 अप्रैल तक यहां यमुना यज्ञ संपन्न किया जाएगा ।

गौरतलब है यमुनोत्री में कपाट बंद होने के बाद मां यमुना की डोली अपने मायके खरसाली गांव में आती है और शनी मंदिर के पास स्थित मां राजराजेश्वरी मंदिर में शीतकाल के 6 महीने निवास करती थी ।इस वर्ष खरसाली गांव में मां यमुना का अपना मंदिर बनकर तैयार हो गया है।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: