पहाड़ों की हकीकत

पालिका बनी गौशाला, गुस्साई महिलाओं ने कार्यालय में बांध दी निराश्रित गायें

किसानों की फसल चट कर रही ये गायें

गिरीश गैरोला

आज 31 मई को गुस्साई महिलाओं ने दो गायों को पकड़ कर पालिका दफ्तर में बांध दिया और खुद कलेक्ट्रेट उत्तरकाशी में धरना शुरु कर दिया।

देखिए वीडियो 

दरअसल उत्तरकाशी के गंगोरी कस्बे में पशुपालकों द्वारा दूध न देने के बाद उन्हें सड़क पर आवारा घूमने के लिए छोड़ देने के बाद उक्त गाये गंगीरी सेरा में कास्तकारों की खेती में फसल को चुगने के बाद नष्ट करने लगी हैं।

कई बार अपने स्तर से इन गायों को जंगल के चरागाहों में छोड़ देने के बाद भी उक्त गायें फिर से उनके खेतों में पहुंच कर उनकी फसल को नुकसान पहुंचा रही है।

 

29 मई को अपनी इसी शिकायत को लेकर डीएम उत्तरकाशी आशीष चौहान से मिली थी । डीएम ने गुफियारा  गौशाला में उक्त गायों के रखने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। गंगोरी की ग्रामीण कास्तकार महिलाओं का आरोप है कि गौशाला  प्रबंधकों  ने इन गायों को फिर से गंगोरी उनके फसल वाले खेतों में छोड़ दिया।  सामाजिक कार्यकर्ता अमरीकन पुरी ने बताया कि गौ के प्रति हमारा सम्मान है, किंतु उनके मालिकों की पहचान कर दंड दिया जाना जरूरी है जो इन गायों को आवारा बनने को मजबूर कर देते हैं।

मौके पर डिप्टी कलेक्टर और पालिका प्रशासक अनुराग आर्य ने पालिका के इओ सुशील कुमार कुरील को इन गायों को गौशाला में रखने , उनकी जियो टेगिंग करने और उनके मालिकों की पहचान तक नियमित रूप से इन्हें गौशाला में ही रखने के निर्देश दिए।

डीएम को लिखे ज्ञापन में महिलाओं ने गायों की समुचित व्यवस्था करने की मांग की है, ताकि गरीब  महिलाओं को रोज चंदा कर गायों को यह से वहां न ढोना पड़े।

Parvatjan Android App

Video

Muslim Beaten for Celebrating Independence Day

Get Email: Subscribe Parvatjan

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: