राजनीति

हरीश रावत को बोलते थे बाप, अब दे रहे शाप!

हरीश रावतराज में मलाई खाने वालों ने अब किया किनारा

अपनों द्वारा दुत्कारे जाने से बढ़ा हरीश रावत का दर्द

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत चुनाव हारने के बाद लगातार संकट में हैं। सत्ताधारी दल के मुख्यमंत्री, मंत्री, विधायक हरीश रावत का हाल जानने अस्पताल जा रहे हैं तो हरीश रावत राज में मलाई खाने वाले आज उन्हें गाली बक रहे हैं।
हरीश रावत को कभी अपना राजनैतिक गुरू तो कभी पिता बताने वाले लोग आज उन्हें तब गरिया रहे हैं, जबकि हरीश रावत राजनैतिक संकट के साथ-साथ स्वास्थ्य कारणों से भी परेशान हैं। दिल्ली के गंगाराम अस्पताल में भर्ती जिन हरीश रावत को आज कांग्रेसियों ने शुभकामना देकर उनका उत्साहवर्धन करना था, उनमें से कई हरीश रावत को बददुआ दे रहे हैं। भाजपा की विधायकी छोड़कर कांग्रेस के टिकट पर घनसाली से चुनाव लड़कर बुरी तरह हारने वाले भीमलाल आर्य जो कल तक हरीश रावत को सार्वजनिक मंचों से पिता कहते थे, उनकी चप्पलें उठाते थे, आज हरीश रावत के लिए ईश्वर से कड़ी सजा और असहनीय दर्द देने की प्रार्थना कर रहे हैं।
ये वही भीमलाल आर्य हैं, जिन्होंने भाजपा का विधायक होते हुए तब कांग्रेस के विधायक के प्रत्याशी विजय बहुगुणा के खिलाफ प्रत्याशी न उतारने के लिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को पत्र लिखा था। सितारगंज चुनाव के दौरान आश्चर्यजनक रूप से भीमलाल आर्य तब सरकारी हैलीकॉप्टर और सरकारी गेस्ट हाउसों में विश्राम करते भी दिखे। तब भारतीय जनता पार्टी के लोगों ने भीमलाल आर्य पर करोड़ों रुपए लेकर निष्ठा बदलने का आरोप लगाया था।
बाद में हरीश रावत के मुख्यमंत्री बनने के बाद भीमलाल आर्य अपनी पार्टी से अलग हरीश रावत के पीछे चलते रहे। तीन साल तक हरीश रावत द्वारा हस्ताक्षरित घोषणाओं के भरोसे घनसाली में राजनीति करने वाले भीमलाल आर्य को घनसाली की जनता ने चुनाव में चौथे स्थान पर धकेल दिया। चुनाव के दौरान घनसाली की जनता द्वारा वोट मांगने आए भीमलाल आर्य को दौड़ाने के वीडियो भी सामने आए।
आजकल भीमलाल आर्य हरीश रावत को सोशल मीडिया में विलेन बताकर तू-तपड़, रे-बे कहकर गालियां बक रहे हैं।
भीमलाल आर्य की तरह ही अब फेसबुकिया पत्रकार रह चुके श्रीमान राजीव नयन बहुगुणा, जो कि उत्तराखंड के सूचना आयुक्त बनने के लिए हरीश रावत को पितातुल्य से कदम आगे बताने से नहीं चूकते थे, अब पानी-पीकर हरीश रावत पर वादाखिलाफी का आरोप लगा रहे हैं। स्वतंत्र पत्रकार और पर्यावरणविद् सुंदरलाल के सुपुत्र राजीव नयन बहुगुणा तीन साल तक हरीश रावत के साथ न सिर्फ सार्वजनिक मंचों पर विराजमान रहे, बल्कि सरकारी हैलीकॉप्टर से भी उन्होंने खूब सारी सैल्फियां लेकर बताया कि जो कलर प्लस की शर्ट उन्होंने पहनी है, वो हरीश रावत ने ही खरीदकर दी है।
समय का फेर देखिए, सत्ता जाते ही अब लोग वानप्रस्थ आश्रम की ओर बढ़ रहे हरीश रावत पर अपनी नाकामियों का ठीकरा फोड़ रहे हैं।

%d bloggers like this: