पहाड़ों की हकीकत

सड़क को लेकर सड़कों पर ग्रामीणों का सैलाब

लोक निर्माण विभाग में की तालाबंदी, विधायक ने दिया कार्यवाही का भरोसा।आठ फरवरी को आयोजित बैठक में होगी सभा दरमोला-डुंगरी-स्वीली और सेम-स्वीली-डुंगरी मोटरमार्ग निर्माण की मांग

प्रवीन सेमवाल

रुद्रप्रयाग। दरमोला-डुंगरी-स्वीली और सेम-स्वीली-डुंगरी मोटरमार्ग निर्माण की मांग को लेकर ग्रामीणों ने जिला मुख्यालय पर ढोल-दमाऊं के साथ जोरदर प्रदर्शन कर लोक निर्माण विभाग कार्यालय में तालाबंदी की। इस दौरान पूर्व विकास भवन में प्रदर्शन करने के बाद ग्रामीणों ने जिलाधिकारी और विधायक कार्यालय में विधायक भरत सिंह चौधरी को ज्ञापन सौंपा। ग्रामीणों ने तय किया कि गांव में आठ फरवरी को प्रस्तावित बैठक में आगे की रणनीति पर विचार किया जाएगा।

सोमवार को दरमोला-डुंगरी-स्वीली और सेम-स्वीली-डुंगरी मोटरमार्ग की मांग को लेकर ग्रामीणों ने जवाड़ी बाईपास से पुराने विकास भवन तक जुलूस-प्रदर्शन किया। इस बीच ग्रामीणों ने लोक निर्माण विभाग में अधिशासी अभियंता के कार्यालय में तालाबंदी कर अपना विरोध जताया। पुराने विकास भवन में आंदोलनकारियों ने जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजा। इस दौरान जिलाधिकारी ने लोनिवि के ईई और पीएमजीएसवाई के जखोली खंड के ईई को मौके पर बुलाकर एक माह के भीतर सड़क निर्माण संबंधी सभी कार्यवाही के आंदेश दिए। साथ ही डीएम ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि विभागीय कार्यवाही से ग्रामीणों और उन्हें अवगत कराएं। मुख्यमंत्री के नाम सम्बोधित ज्ञापन को जिलाधिकारी को सौंपते हुए आंदोलनकारियों ने कहा कि एक माह के भीतर मोटरमार्ग निर्माण में आ रही बाधाओं को दूर नहीं किया गया तो ग्रामीण उग्र आंदोलन के लिए मजबूर होंगे।

इसके बाद ग्रामीणों ने विधायक भरत सिंह चौधरी से भी मुलाकात कर उन्हें ज्ञापन सौंपा। ग्रामीणों की समस्या को देखते हुए विधायक श्री चौधरी ने आश्वासन दिया कि मोटरमार्ग निर्माण के लिए वह अपने स्तर पर पूरी कार्यवाही करेंगे। उन्होंने अधिकारियों को अपने कार्यालय में बुलाकर निर्देश दिए गए प्राथमिकता के आधार पर इन मोटरमार्गाें पर कार्यवाही करें। सड़क निर्माण संघर्ष समिति के प्रवक्ता कृष्णानंद डिमरी ने बताया कि ग्राम पंचायत स्वीली-सेम में आठ फरवरी को एक बैठक आहूत की गई है। बैठक में विधायक भरत सिंह चैधरी को भी आमंत्रित किया गया। बैठक में ग्रामीण आगे की रणनीति पर विचार करेंगे। 11 फरवरी से प्रस्तावित आमरण-अनशन को लेकर भी इसी बैठक में निर्णय लिया जाएगा।

इस मौके पर ग्राम प्रधान स्वीली रीना रावत, ग्राम प्रधान जवाड़ी कुंवर लाल सत्यार्थी, क्षेत्र पंचायत सदस्य गुडृडी देवी, प्रधान डुंगरा धनिता देवी, प्रधान दरमोला किरण रावत, पूर्व प्रधान ब्रह्मानंद डिमरी, जसपाल सिंह पंवार, हर्षमणि डिमरी, राजेन्द्र सिंह कप्रवाण, राजेन्द्र प्रसाद नौटियाल, केएन डोभाल, पदम सिंह, मातबर सिंह, राजेन्द्र सिंह रावत, मान सिंह, आनंद लाल, पुष्पानंद डिमरी, सरोप सिंह रावत, चैतराम डिमरी, राजेन्द्र रावत, बलवीर रावत, सुनील डिमरी, हरि प्रसाद डिमरी, अनिल डिमरी, वेद प्रकाश डिमरी, द्वारिका प्रसाद डिमरी, महेश चन्द्र डिमरी, ऋषि डिमरी, अतुल डिमरी, गजे सिंह रावत, कमल सिंह रावत, दौलत सिंह रावत, प्रकाश डिमरी, चन्द्र मोहन डिमरी, विजयराम डिमरी, अवतार सिंह रावत, राजेन्द्र सिंह, लक्ष्मण रावत, कमल सिंह रावत समेत बड़ी संख्या में आंदोलनकारी मौजूद थे।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published.

Parvatjan Android App

Get Email: Subscribe Parvatjan

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: