राजकाज

चीफ जस्टिस ने सबसे पहले जताया यह सुकून दायक संकल्प

उत्तराखण्ड उच्च न्यायालय का कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश बनने के बाद मुख्य न्यायाधीश राजीव शर्मा ने हाई कोर्ट बार में अधिवक्ताओं से मुलाकात की । मुख्य न्यायाधीश ने लाइब्रेरी में किताबों के लिए दस हजार रुपये का चैक भी बार के अध्यक्ष को सौंपा ।
बार एसोसिएशन के सभागार में कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश ने मौजूद अधिवक्ताओं से कहा कि कल से लिस्ट लम्बी, परसों और लम्बी और आगे को लंबी और लंबी होती जाएगी । आप तैयारी करके पहुंचें और एक पेज की ब्रीफ देकर अपना रिप्रिजेंटेशन पेश करें । इस मौके पर बार के अध्यक्ष ललित बेलवाल ने उनका स्वागत किया । सभागार अधिवक्ताओं से खचाखक भरा था । अध्यक्ष ने अधिवक्ताओं के लिए चैम्बर और घर उपलब्ध कराने की मांग की, जिसपर कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि वो जिलाधिकारी को बुलाकर जगह चिन्हित करवाएंगे और जल्द से जल्द समस्या का समाधान करेंगे । उन्होंने कहा कि गरीब और जरूरतमंदों के लिए न्याय त्वरित होना चाहिए, उन्होंने कहा कि जब हम जागेंगे तो लोग सोएंगे ।
एसोसिएशन के अध्यक्ष ललित बेलवाल ने उनके फूलों का गुच्छा देकर स्वागत किया । सभागार में मुख्य न्यायाधीश के स्वागत के लिए वरिष्ठ अधिवक्ता महेंद्र पाल, डी.के.शर्मा, विजय भट्ट, बी.सी.पाण्डे, पुष्पा जोशी, लता नेगी, नीतू सिंह, आदित्य साह आदि दर्जनों अधिवक्ता मौजूद रहे ।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: