एक्सक्लूसिव धर्म - संस्कृति

मुखवा को भी मिला गंगा ग्राम का दर्जा: पर्वत जन का असर

गंगोत्री तीर्थ पुरोहितों का गांव है मुखवा।शीतकाल के 6 महीने गंगा को डोली निवास करती है मुखवा में।

पर्वतजन की खबर पर लगी मुहर, पर्वतजन ने प्रमुखता से उठायी थी खबर।

गिरीश गैरोला।

आखिर केंद्र सरकार ने पर्वतजन की खबर पर मुहर लगा ही दी। 20 फरवरी को उत्तरकाशी जनपद के बगोरी गांव को प्रदेश के  पहले गंगा ग्राम घोषित करने के मौके पर तीर्थ पुरोहित गंगोत्री धाम के गांव मुखबा की उपेक्षा पर पर्वतजन ने ही सबसे पहले तीर्थ पुरोहितों की शिकायत पर केंद्रीय मंत्री उमा भारती से सवाल पूछा था,  जिसके जवाब में आज उच्च स्तरीय निर्देश पर प्रदेशभर में चार स्थानों पर एक साथ मॉडल गंगा गांव के रूप में विकसित करने के लिए शुभारंभ किया गया।  मॉडल गंगा ग्राम में  पौड़ी जनपद के यमकेश्वर क्षेत्र का माला गांव , देहरादून डोईवाला क्षेत्र का वीरपुर खुर्द गांव और उत्तरकाशी जनपद के बगोरी गांव के बाद मुखबा गांव भी मॉडल गंगा ग्राम के रूप में घोषित हो गया।

गौरतलब है कि अपने पिछले उत्तरकाशी भ्रमण के दौरान केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने उत्तरकाशी के बगोरी गांव को प्रदेश के पहले गंगा ग्राम के रूप में घोषित किया था । हालांकि तीर्थ पुरोहितों के गांव मुखवा को गंगा ग्राम घोषित करने की घोषणा गंगोत्री के कपाट खुलने के मौके पर की जानी थी  किंतु उच्चस्तरीय निर्देश पर आनन-फानन में अधिकारियों ने उत्तरकाशी जिला सभागार में मुखबा को गंगा ग्राम घोषित करना पड़ा।

बताते चलें कपाट बंद होने के बाद उपला टकनौर क्षेत्र के ज्यादातर ग्रामीण निचले इलाकों में चले जाते हैं और कपाट खुलने के बाद ही इन गांव में आवाजाही के बाद रौनक लौटती है।

मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार ने बताया कि बगोरी गांव में पेयजल की करीब 32 लाख की एक योजना स्वजल पायलट प्रोजेक्ट के अंतर्गत बनाई जा रही है। वहीं गंगा ग्राम के अंतर्गत गांव का समग्र विकास किया जाना है,  किंतु स्वच्छता संबंधित कार्यों को ही ज्यादा प्रमुखता दी जाएगी, इसके अतिरिक्त वृक्षारोपण , ऑर्गेनिक खाद्य पदार्थ का उत्पादन और ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन पर डीपीआर तैयार की जानी है। इसके अलावा पूर्व में चल रही विकास योजनाओं का कनवर्जन भी किया जाना है।

जिला कलक्ट्रेट सभागार में आज आयोजित कार्यक्रम मुखवा गांव को गंगा ग्रामसभा बनाये जाने के शुभारंभ समारोह में गंगोत्री विधायक गोपाल सिह रावत ने बतौर मुख्य अतिथि के रूप में दीप  प्रज्ज्वलीत कर तथा गांव का गंगाग्राम के रूप में उद्घाटन किया। जबकि आयोजित कार्यक्रम में उन्होने उपस्थित लोगों को शपथ  दिलाई एवं स्वच्छता जागरूकता कलेण्डर पर हस्ताक्षर कर जागरूकता अभियान का शुभारंभ किया। ब्लाक प्रमुख चन्दन सिह राणा ने आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता की।

विधायक श्री रावत ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि सौभाग्य की बात है कि राज्य में चार गंगा ग्राम बने है। जिसमें एक पौडी जनपद में तथा एक देहरादून में जबकि उत्तरकाशी में दो ग्राम सभा बगोरी एवं मुखवा गंगा ग्राम सभा बनाये गये हैं। उन्होने क्षेत्रवासियों को शुभकामनाऐं देते हुए कहा कि गंगा ग्राम बनने से स्वच्छता एवं तमाम गतिविधियों में संकल्पित होकर कार्य करना है ओर इसे मॉडल के रूप में विकसित करना है। उन्होने मुखवा को गंगा ग्राम बनाये जाने पर केन्द्र सरकार, केन्द्रीय मंत्री उमा भारती एवं राज्य के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिह रावत को धन्यवाद दिया।

इससे पूर्व मुख्य विकास अधिकारी विनीत कुमार ने गंगा ग्राम में होने वाले कार्यां एवं अन्य गतिविधि की जानकारी की प्रस्तुती प्रोजेक्टर के माध्यम से दी। उन्होने कहा कि मां गंगा के तटीय क्षेत्र में सभी गंगा गांव है जो नमामी गंगे के तहत आच्छादित है। सरकार कुछ गांव को चुनकर मॉडल के रूप में कार्य कर रही है।

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: