एक्सक्लूसिव पहाड़ों की हकीकत

डीएम को लौटाया बैरंग। बिजली परियोजना के विरोध मे ग्रामीण।

नीरज उत्तराखंडी

जनपद उत्तरकाशी के मोरी ब्लाक में सतलुज जल विद्युत निगम की प्रस्तावित 44 मेगावाट सांकरी- जखोल जल विद्युत परियोजना की जन सुनवाई कार्यक्रम में माटू संगठन की अगुवाई में स्थानीय ग्रामीणों के भारी विरोध के कारण जन सुनवाई नहीं हो सकी। बैठक में उत्तराखंड पर्यावरण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों सहित जिलाधिकारी पर भी मंच के ऊपर प्रदर्शनकारियों ने कागज फेंके और वापस जाओ के नारे लगाए।

मोरी ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय पाॅव मल्ला में सतलुज जल विद्युत निगम द्वारा प्रस्तावित सांकरी जखोल 44मेगावाट विद्युत परियोजना की उत्तराखंड पर्यावरण नियंत्रण बोर्ड द्वारा आयोजित जन सुनवाई मे ग्रामीणों द्वारा भारी विरोध किया गया।

माटू संगठन के बिमल भाई, राजपाल रावत, जनक रावत,प्रहलाद सिंह, राम लाल, गुलाब रावत सहित जखोल, सुनकुंडी, धारा,सावणी, पाँव तला, पाँव मल्ला,आदि गाँव के ग्रामीणो ने परियोजना का विरोध करते हुए सुनवाई नहीं होने दी। ग्रामीणों ने10बजकर 30मिनट से साढ़े बारह बाजे तक नारेबाजी प्रदर्शन कर मंच पर कागज फेंक कर परियोजना का विरोध किया। जिलाधिकारी आशीष चौहान ने ग्रामीणों को समझाने का बहुत प्रयास किया लेकिन सफल नहीं हो पाए। बाद में सुनवाई स्थगित कर दी गई। इस अवसर पर सतलुज जल विद्युत निगम के उपमहा प्रबंधक आरके जगोटा, जेके महाजन आदि भी मौजूद थे।

Parvatjan Android App

Get Email: Subscribe Parvatjan

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: