ट्रेंडिंग

बिग ब्रेकिंग : अफसरों के बंपर तबादले

 उत्तराखंड सरकार ने आज 30 आईएफएस अफसरों के तबादले कर दिए।

प्रमुख वन संरक्षकों के तबादले 

विनोद कोठियाल, देहरादून 

प्रमुख वन संरक्षक रंजना काला को प्रमुख वन संरक्षक वन पंचायत तथा वन संरक्षक वन्यजीव एवं मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक की भी जिम्मेदारी दी गई है।

प्रमुख वन संरक्षक मोनीष मलिक को उत्तराखंड वन विकास निगम का प्रबंध निदेशक बनाया गया है।

अपर प्रमुख वन संरक्षक के तबादले

अपर प्रमुख वन संरक्षक डी जे के शर्मा को वन संरक्षण का नोडल अधिकारी बनाया गया है।

अपर प्रमुख वन संरक्षक जेएस सुहाग को योजनाएं और सामुदायिक वानिकी के दायित्व दिए गए हैं।

अपर प्रमुख वन संरक्षक केआर मुरलीधर राव को उत्तराखंड वन विकास निगम में प्रतिनियुक्ति पर लाया गया है तथा राज नारायण झा को अपर मुख्य वन संरक्षक पर्यावरण बनाया गया है।

साथ ही कपिल कुमार जोशी को कुमाऊं से मुख्यालय में प्रशासन का कार्यभार दिया गया है।

मुख्य वन संरक्षकों के तबादले 

मुख्य वन संरक्षक जी एस पांडे को मुख्य वन संरक्षक गढ़वाल बनाया गया है। वह अभी तक इको टूरिज्म और प्रचार प्रसार का कार्य देख रहे थे। मुख्य वन संरक्षक भुवन चंद्र को वन पंचायत तथा नमामि गंगे का परियोजना निदेशक बनाया गया है।

मुख्य वन संरक्षक रंजन कुमार मिश्र को प्रशासन और वन्य जीव संरक्षण तथा आसूचना का दायित्व दिया गया है।

वीके गांगटे को इको टूरिज्म और प्रचार प्रसार में लाया गया है। तथा वह सतर्कता और विधि प्रकोष्ठ भी संभालेंगे।

मुख्य वन संरक्षक विवेक पांडे को कुमाऊं का मुख्य वन संरक्षक बनाया गया है।

मुख्य वन संरक्षक मनोज चंद्रन को कार्मिक तथा बांस एवं रेशा विकास परिषद का मुख्य कार्यकारी अधिकारी बनाया गया है। मुख्य वन संरक्षक प्रमोद कुमार सिंह मुख्य वन संरक्षक वनाग्नि और आपदा प्रबंधन के पद पर तैनात किए हैं। वह अभी तक जलागम प्रबंधन परियोजना में प्रतिनियुक्ति पर तैनात थे।

मुख्य वन संरक्षक सनातन को राजाजी टाइगर रिजर्व से हटाकर जलागम प्रबंधन निदेशालय में भेजा गया है।

मुख्य वन संरक्षक आईपी सिंह  को अल्मोड़ा से हटाकर हल्द्वानी में वन प्रशिक्षण अकादमी का निदेशक बनाया गया है। मुख्य वन संरक्षक गिरीश कुमार रस्तोगी पौड़ी से ट्रांसफर करके आजीविका तथा आईटी और निगरानी मूल्यांकन का कार्य भार देकर देहरादून लाया गया है।

मुख्य वन संरक्षक मानसिंह को गोपेश्वर के नंदा देवी बायोस्फीयर रिजर्व से हटाकर हल्द्वानी में कार्य योजना का दायित्व दिया गया है।

मुख्य वन संरक्षक रमेश चंद्रा को वन विकास निगम में ही प्रतिनियुक्ति पर पदोन्नति दे दी गई है।

वन संरक्षकों के तबादले 

वन संरक्षक तेजस्विनी अरविंद पाटील को कार्य योजना से ट्रांसफर करके दक्षिण कुमाऊं वृत्त का वन संरक्षक बनाया गया है। साथ ही वह नैनीताल वन प्रभाग के कार्य योजना अधिकारी भी रहेंगे।

वन संरक्षक पीके पात्रो को देहरादून वन प्रभाग और भूमि संरक्षण वन प्रभाग कालसी का कार्य योजना अधिकारी बनाया गया है। वह राजाजी टाइगर रिजर्व के डायरेक्टर भी रहेंगे।

वन संरक्षक नेहा वर्मा को मुख्य वन संरक्षक कार्य योजना हल्द्वानी के पद पर तैनाती दे दी गई है।

वन संरक्षक अमित वर्मा वन विकास निगम में तैनात हैं। वन संरक्षक नित्यानंद पांडे को हल्द्वानी से ट्रांसफर करके पौड़ी का वन संरक्षक बनाया गया है।

वन संरक्षक धर्मेंद्र कुमार को तराई पश्चिमी वन प्रभाग से ट्रांसफर करके नंदा देवी रिजर्व का निदेशक बनाया गया है। जीवन चंद्र जोशी को हल्द्वानी से स्थानांतरण करके चकराता वन प्रभाग और भागीरथी वृत्त मुनि की रेती का प्रभार दिया गया है।

वन संरक्षक प्रवीण कुमार को अल्मोड़ा वन प्रभाग  के साथ साथ बागेश्वर वन प्रभाग का भी दायित्व दिया गया है।

उप वन संरक्षकों के तबादले 

कुबेर सिंह बिष्ट को चंपावत वन प्रभाग के साथ साथ अल्मोड़ा का भी उपवन संरक्षक बनाया गया है। उप वन संरक्षक नीतीश मणि त्रिपाठी को तराई पूर्वी वन प्रभाग हल्द्वानी के दायित्व के साथ साथ प्रशिक्षण अकादमी हल्द्वानी का भी निदेशक बनाया गया है।

आई एफ एस हिमांशु बागड़ी को उप निदेशक राजाजी टाइगर रिजर्व से ट्रांसफर करके तराई पश्चिमी वन प्रभाग का उप वन संरक्षक बनाया गया है।

%d bloggers like this: