एक्सक्लूसिव खुलासा

भर्ती घोटाला: 60 की अवैध भर्ती,पुरानों का वेतन बंद।आंदोलन।

सफाई कर्मियों को 8 महीने से वेतन नहीं। हड़ताल पर सफाई कर्मी। 38 संविदा कर्मी काम बंद हड़ताल पर।
एक दिन बाद स्थायी सफाई कर्मी भी देंगे समर्थन में करेंगे हड़ताल।
चार धाम यात्रा में फ़ैल सकती है गंदगी।
भविष्य में संभावित पदों पर अभी से भर्ती करने में जुटी पालिका।
गिरीश गैरोला
उत्तरकाशी नगर पालिका के पास अपने सफाई कर्मियों को  वेतन देने के लिए भले ही बजट नहीं हो पर पालिका भविष्य में सीमा विस्तार के बाद नियुक्त किये जाने वाले संभावित कर्मचारियों को अभी से भर्ती करने में जुटी हुई है। जबकि मौजूदा सफाई कर्मी 8 महीने से वेतन न मिलने से हड़ताल पर चले गए है।
सफाई कर्मी आशीष ने बताया कि पालिका में 38 संविदा कर्मी और 29 स्थायी सफाई कर्मी तैनात है। पालिका ने पिछले 8 महीनो से सफाई संविदा कर्मियों को वेतन नहीं दिया है। और पिछले 5 वर्षों से मात्र कोरे आश्वासन ही दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सफाई कर्मियों को 9 हजार रु प्रति माह वेतन का जीओ लागू हो चुका है। जबकि उत्तरकाशी में उन्हें मात्र 6300 रुपए ही दिए जा रहे हैं।
वहीं सफाई कर्मचारी यूनियन के नेता अंकित ने कहा कि शहरी विकास मंत्री जो जिले के प्रभारी मंत्री भी है, ने जनता दरबार में पालिका को निर्देश दिए थे कि दो किस्तों में कर्मचारियों का पूरा भुगतान कर दिया जाय किन्तु पालिका ने दो महीने का वेतन निकाल कर चुप्पी साध ली।
महिला सफाई कर्मी गुड्डी देवी और कमलेश ने बताया कि विगत 8 महीने से वेतन न मिलने से उनके बच्चों को स्कूल में नई कक्षा प्रवेश नहीं मिल पा रहा है। मार्च महीने में उनके बिजली और पानी के कनेक्शन काट लिए गए हैं और अब उनको राशन मिलने में भी मुश्किल हो रही है। बेटे की शादी करनी है किन्तु कोरे भरोसे से शादी का इंतजाम कैसे होगा?
बड़ा सवाल ये है कि जब पालिका के पास वर्तमान क्षेत्र में ही सफाई कर्मी को वेतन देने के लिए धन नहीं है तो भविष्य में सीमा विस्तार के बाद होने वाली नौकरी की भर्ती को अभी से करने की क्या जरुरत थी।
गौरतलब है कि उत्तरकाशी नगर पालिका ने सीमा विस्तार के बाद संभावित पदों पर पहले से से करीब 60 लोगों की भर्ती कर दी है।

Parvatjan Android App

Get Email: Subscribe Parvatjan

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: