ट्रेंडिंग

‘केदारनाथ फिल्म’ मे ‘किसिंग सीन’ को लेकर केदारघाटी मे उबाल

जगदम्बा कोठारी/ रूद्रप्रयाग

16/17 जून 2013 को केदारनाथ मे आई भीषण त्रासदी को लेकर निर्देशक अभिषेक कपूर की बॉलिवुड फिल्म ‘केदारनाथ’ का ट्रैलर लांच होते ही केदारघाटी की जनता सहित गढवाल भर मे फिल्म का विरोध शुरू हो गया है।
केदारनाथ आपदा की पृष्ठभूमि पर बनी यह फिल्म अपने टीजर मे आपत्तिजनक दृश्य को लेकर गढवाल सहित उत्तराखंड की जनता का विरोध का शिकार हो रही है।

फूंका पुतला

बॉलीवुड फिल्म “केदारनाथ” के 3 दिन पहले आए टीजर में दिखाये गये प्रेम प्रसंग व आपत्तिजनक दृश्यों को लेकर आज सतेराखाल में स्थानीय जनता के द्वारा फिल्म के निर्देशक अभिषेक कपूर, अभिनेता सुशांत राजपूत व अभिनेत्री सारा अली खान का पुतला जलाकर विरोध प्रदर्शन किया गया।


संस्कृति और परंपराओं से छेड़छाड़ व फूहड़ता किसी भी सूरते हाल में बर्दाश्त नहीं की जायेगी।
फिल्म में दिखाए गए टीजर से ऐसा प्रतीत होता है कि यह फिल्म हिंदुओं की आस्था व जनभावनाओं के खिलाफ है।
केदारनाथ एक बॉलीवुड ड्रामा फिल्म है, जिसका निर्देशन और निर्माण अभिषेक कपूर कर रहे हैं। अभिषेक कपूर की फिल्म से सैफ अली खान और अमृता सिंह की बेटी सारा अली खान हिंदी फिल्म जगत में अपना एक्टिंग डेब्यू करने जा रही हैं। फिल्म 7दिसम्बर 2018 को रिलीज होना तय बताया गया है। फिल्म में सारा अली खान के साथ सुशांत सिंह राजपूत मुख्य भूमिका मे हैं।
हाल ही में फिल्म का टीजर रिलीज किया गया, जिसमे 2013 में आई केदारनाथ आपदा की जैसी तस्वीर दिखाई गई है, उत्तराखंड की यह विनाशकारी बाढ़ ने लाखों जीवन तहस नहस कर दिया था।केदारनाथ त्रासदी पर बनी यह फिल्म एक लव स्टोरी है। सुशांत इस फ‍िल्‍म में प‍िट्ठू स्थानीय भाषा मे (कन्डी वाले) की भूमिका निभा रहे हैं। प‍िट्ठू वाले पहाड़ी रास्‍तों पर एक कन्डी के सहारे लोगों को एक स्‍थान से दूसरे स्‍थान तक पहुंचाने का काम करते हैं। वहीं, सैफ अली खान की बेटी सारा इस फिल्म से बॉलीवुड में डेब्यू कर रही हैं।
फिल्म ‘केदारनाथ’ की 60 प्रतिशत से अधिक की शूटिंग जनपद के केदारनाथ, त्रियुगीनारायण, चोपता,तुंगनाथ सहित लगभग आधा दर्जन धार्मिक स्थलों पर की गयी है।
हाल मे आरएसवीपी प्रोडक्सन द्वारा यू-ट्यूब पर डाले गये इस फिल्म के 1 मिनट 40 सेंकेंड के ट्रैलर मे केदार आपदा के दृश्यों सहित फिल्म के नायक नायिका का एक आपत्तिजनक (किसिंग) सीन दिखाया गया जो कि कहीं न कहीं हिन्दुओं के प्रसिद्ध धाम केदारनाथ मे आस्थावान श्रद्धालुओं की आस्था को ठेस पहुंचाता है, फिल्म के टीजर मे दिखाये गये इसी दृश्य को लेकर स्थानीय जनता मे रोष है।
उखीमठ से क्रांन्तिवीर संगठन के अध्यक्ष पवन राणा फिल्म के निर्माता व निर्देशक अभिषेक कपूर के प्रति नाराजगी व्यक्त करते हुए कहते हैं कि केदारनाथ आपदा हम लोंगो को कभी न भूलने वाली घटना है, जिसमे स्थानीय ग्रामीणों ने अपने परिजनों सहित अपने व्यवसाय व आवास को खोया है और फिल्म निर्माता महज पैसा कमाने के लिए इस प्रकार के घिनौने दृश्य फिल्म दिखाकर आपदा पीड़ितों के घाव पर नमक छिड़क रहे हैं।
वहीं बद्रीनाथ-केदारनाथ मन्दिर समीति के कार्य अधिकारी एन.पी. जमलोकी का आरोप है कि ‘हमने सोचा था कि इस फिल्म मे केदार घाटी आपदा पीड़ितों का दुख-दर्द बड़े पर्दे पर उतारा जायेगा, यही सोचकर फिल्म की पूरी टीम को सुविधांये मुहैय्या करायी थी लेकिन वास्तविकता कुछ और ही निकली, फिल्म वास्तविकता से परे अश्लीलता परोसते नजर आ रही है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता और फिल्म ‘केदारनाथ’ का रिलीज होने का विरोध मे मन्दिर समितिि सबसे आगे रहेगी।’
उत्तराखंड क्रांन्तिदल के नगर अध्यक्ष (युवा प्रकोष्ठ) ऋषिकेश मोहित डोभाल ने एक स्वर मे भजपा सरकार को कोसा कि इस अश्लील दृश्य का जिम्मेदार भाजपा सरकार ही है, डोभाल का कहना है कि भाजपा भगवा के साथ अब आस्था से भी खिलवाड़ कर रही है, हमारे रहते यह फिल्म पूरे प्रदेश मे रीलीज नही हो सकती।
जब पर्वत जन टीम ने इस मामले को लेकर गढवाल के सुप्रसिद्द लोक कलाकार व फिल्म समीक्षक बलदेव राणा से बात की तो उनका कहना था कि एक निर्माता-निर्देशक के तौर पर फिल्म की पब्लिसिटी के लिए यह आपत्तिजनक सीन दिया गया है,
लेकिन फिल्म का नाम ‘केदारनाथ’ के तहत यह गलत है, निर्माता व निर्देशक को ऐसे अश्लील सीन फिल्म व उसके ट्रैलर से हटाने चाहिए, यह जून 2013 के बाद एक और बड़ी आपदा है।
केदारनाथ विधायक मनोज रावत ने भी इस फिल्म का खुलकर विरोध किया है, वह कहते हैं कि अगर इस टीजर सहित फिल्म के आपत्तिजनक दृश्य फिल्म से नही हटाये गये तो गढवाल की जनता फिर एक नये आन्दोलन को तैयार होगी।
जब पर्वत जन ने जब केदारघाटी के स्थानीय ग्रामीणों से शूटिंग के दिनों के बारे मे जानकारी ली तो ग्रामीणों ने बताया कि फिल्म के हीरो और हिरोइन सुशांत सिंह और सारा अली खान ने एक माह मे लगभग दो लाख की नकद चरस खरीद कर स्थानीय महिलाओं को रोजगार दिया।
यहां बता दे कि बीते वर्ष 2017 के माह 5 सितंबर से 5 अक्टूबर तक ‘ केदारनाथ’ की फिल्म की शूटिंग रूद्रप्रयाग जनपद मे चली।

Get Email: Subscribe Parvatjan

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: