राजनीति सियासत

रामनगर में लव जिहाद : विरोध में उतरे भाजपा विधायक

कृष्णा बिष्ट
भाजपा विधायक राजकुमार ठुकराल एक बार फिर से चर्चा में है। वह कल 27मई को रामनगर के गर्जिया माता मंदिर में दो समुदायों के बीच कुछ दिन पहले हुई झड़प में दखल देने के लिए पहुंचे तो उन्होंने खुलेआम इस बात को स्वीकार किया कि मुस्लिम धर्म के लोग लव जिहाद फैला रहे हैं।
मंदिर में विश्व हिंदू परिषद के नेताओं ने 23 साल के नवयुवक इरफान को एक 22 वर्षीय हिंदू युवती के साथ देख लिया था तो उस उसकी पिटाई कर दी थी। वहां पर तैनात सब इंस्पेक्टर गगनदीप ने बमुश्किल इरफान को भीड़ से बचाया।
ठुकराल ने इस पर सवाल खड़े कर दिए। ठुकराल ने सवाल उठाया कि जब हम मुस्लिम धार्मिक स्थलों पर नहीं जा सकते तो फिर मुस्लिम हिंदू धार्मिक स्थलों पर हिंदू लड़कियों के साथ माहौल क्यों खराब कर रहे हैं !
 राजकुमार ठुकराल ने इस बात को अपनी Facebook वाल पर भी लिखा कि मुस्लिम समुदाय के तीन युवक हिंदू धर्म की लड़कियों को लव जिहाद में एक सोची समझी साजिश के तहत फंसाने का कार्य कर रहे हैं और हिंदू धार्मिक स्थलों में अराजकता फैला रहे हैं।
यह देखिए राजकुमार ठुकराल की Facebook पोस्ट
 भाजपा के चर्चित विधायक राजकुमार ठुकराल
 कहते हैं कि लव जिहाद को रोकने का साहस हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं द्वारा किया गया है तो इसमें क्या गलत है !
 विधायक ठुकराल ने पुलिस पर मुस्लिम समुदाय के युवकों को बचाने का आरोप लगाते हुए कहा कि पूरी जांच होनी चाहिए और हिंदू धार्मिक स्थलों पर ऐसी अराजकता बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
बकौल ठुकराल,-” हिंदुओं को ऐसे समुदाय के आक्रांताओं को पहचानने की आवश्यकता है जो अपने पहचान छुपाकर हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का अनैतिक कार्य करने में लिप्त हैं।”
 ठुकराल ने पुलिस प्रशासन द्वारा हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं पर दर्ज किए गए मुकदमों की भी कड़े शब्दों में निंदा की।
 इसका मतलब साफ है कि उत्तराखंड में भी सरकार अधिकृत तौर पर यह मानती है कि लव जिहाद मात्र दो समुदायों के बीच नफरत फैलाने के लिए कोई कोरी अफवाह नहीं है बल्कि धरातल पर वास्तव में ऐसा हो रहा है।
 विधायक द्वारा लव जिहाद की “हकीकत” स्वीकारने को लेकर अभी तक सरकार अथवा संगठन की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।
 इसका आशय यह निकाला जा रहा है कि लव जिहाद जैसी घटनाओं को सरकार भी स्वीकारती है। विरोध प्रदर्शन के समय ठुकराल के साथ भारी पुलिस बल सहित सैकड़ों कार्यकर्ता भी मौजूद थे।

Parvatjan Android App

Get Email: Subscribe Parvatjan

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: