एक्सक्लूसिव सियासत

सियासत : फिर भिड़े दो मित्र ! एक विधायक,एक पूर्व विधायक

जिला अस्पताल के अंदर माइक लगा कर धरना प्रदर्शन पर विधायक ने उठाए सवाल।

जीरो साइलेंट जोन में पुलिस चौकी के सामने हुए अपराध पर मांगा जवाब।

गंगोत्री के दो पुराने मित्रों के बीच शुरु हुआ तंज कसने के दौर।

 गिरीश गैरोला।

जिला सभागार उत्तरकाशी में केंद्रीय योजनाओं की समीक्षा बैठक में के दौरान विधायक गंगोत्री गोपाल सिंह रावत ने जिला अस्पताल के सीएमएस से जीरो साइलेंस जोन में एक राजनीतिक दल के द्वारा किए गए धरना प्रदर्शन की अनुमति पर सवाल खड़ा किया । विधायक रावत ने बताया अस्पताल परिसर में जहां मरीजों की स्थिति को देखते हुए जोर से हॉर्न बजाने की इजाजत भी नहीं होती वहां एक राजनीतिक दल द्वारा माइक लगाकर धरना प्रदर्शन और नारेबाजी की गई । इतना ही नहीं जिला अस्पताल में  पुलिस चौकी के सामने यह सब हुआ और पुलिस के अधिकारी चुप चाप परिसर से गाड़िया हटाकर बिपक्ष के लिए धरना स्थल पर जगह बनाते रहे। इतना ही नही मौके पर ज्ञापन  लेने गए प्रशासनिक अधिकारियों ने भी इस पर कोई सवाल नहीं किया । उन्होंने कहा अस्पताल परिसर के अंदर धरना प्रदर्शन की अनुमति किसने दी? और यदि बिना अनुमति के यह सब हुआ है तो आरोपियों के खिलाफ क्या कार्यवाही की गई है ?

विधायक गोपाल रावत ने कहा कि लोकतंत्र में सबको अपनी बात रखने का हक है किंतु इसके लिए जिला अस्पताल उचित स्थान नहीं था गौरतलब है कि 2 दिन पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी नहीं डॉक्टरों की कमी और स्वास्थ्य सुविधाओ मैं सुधार को लेकर प्रदर्शन किया था । विधायक गोपाल रावत ने कहा कि जिला अस्पताल में डॉक्टर की कोई कमी नहीं है , खुद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने उत्तरकाशी दौरे में 2 महीने के भीतर पूरे राज्य में डॉक्टर्स की कमी दूर करने का आश्वासन दिया है ।विधायक ने आरोप लगाया कि कांग्रेसी अपनी हार को पचा नहीं पा रहे हैं इसलिए 1 महीने के भीतर डॉक्टर की तैनाती को लेकर आंदोलन की बात कह रहे हैं ।उन्होंने विपक्ष पर सवाल किया कि कांग्रेस के कार्यकाल में वर्ष 2012 से 2017 तक कितने डॉक्टर उत्तरकाशी जिला अस्पताल को मिले और जो भी डॉक्टर मिले हैं वह वर्ष 2007 से 2012 तक भाजपा सरकार द्वारा ही लाए गए हैं।

दरअसल पूर्व विधायक सजवाण द्वारा गंगोरी में टूटे हुए पुल के स्थान पर बनाये गए अस्थायी पुल के उद्घाटन पर खुद की पीठ थपथपाने के तंज से तिलमिलकर विधायक गंगोत्री ने अपने पुराने मित्र को जबाबी तंज कसा है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published.

Parvatjan Android App

Get Email: Subscribe Parvatjan

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: