धर्म - संस्कृति पर्यटन

राजभवन नैनीताल के जन्मदिन पर गौरवशाली इतिहास से हुए रूबरू

कमल जगाती, नैनीताल

उत्तराखण्ड के नैनीताल स्थित राजभवन का जन्मदिन आज केक काटकर मनाया गया । छात्रों को नैनीताल और राजभवन के गौरवशाली इतिहास से रु-ब-रु कराया गया।

देखिए वीडियो

COPYRIGHTS @ PARVATJAN

नैनीताल के राजभवन का आज 118 वां जन्मदिन है। इसकी नींव 1898 में रखी गई थी जिसके बाद 27 अप्रैल 1900 में इसे यूनाइटेड प्रोविंस के राजपाल के निवास के रूप में इस्तेमाल करना शुरू किया गया था। गौथिक शैली से बरहिंगम पैलेस की तरह बना राजभवन 3000 एकड़ में फैला हुआ है।

चारों तरफ से सुरक्षित वन से घिरे राजभवन को उत्तर प्रदेश के समय ग्रीष्मकालीन राजधानी के रूप में मान्यता प्राप्त थी। राजभवन में एक शानदार गोल्फ मैदान भी बना है। राजभवन को पर्यटकों के लिए खोला गया है।
आज तल्लीताल के सैन्ट जोसफ घाट पर स्कूली छात्र छात्राओं को जाने माने इतिहासकार अजय रावत ने नैनीताल और राजभवन के इतिहास के बारे में जानकारी दी।

उन्होंने शहर और देश को साफ करने के लिए छात्रों को अपने आप से शुरू करने को कहा। राजभवन के जन्मदिन के मौके पर प्रतिष्ठित मनु महारानी होटल ने केक का योगदान दिया था। जोशो-खरोश के साथ केक काटकर सभी को खिलाया गया। छात्रों ने झील सफाई का कार्यक्रम भी रखा था।
इस बीच एन.सी.सी.और सिग्नल्स के आला अधिकारी मौजूद रहे । यहां एन.सी.सी., राजकीय बालिका विद्या मंदिर, पॉलिटेक्निक कॉलेज, सी.आर.एस.टी.स्कूल और शहीद सैनिक स्कूल के छात्र छात्राओं को राजभवन के महत्व और इतिहास की विस्तृत जानकारी दी गई।

%d bloggers like this: