एक्सक्लूसिव

एक्सक्लूसिव: पुलिस पत्रकारों मे ठनी। खबरों का बहिष्कार

चमोली
पुलिस और पत्रकारों के बीच ठनी
चमोली जिले के गोपेश्वर पुलिस  मैदान मे जन्माष्टमी के दिन पुलिस द्वारा आयोजित कार्यक्रम के दौरान भारी बारिश के चलते स्टेज का पंडाल गिरने व उस दौरान एसपी के मैदान छोड़ने की खबर छपने से खफा एसपी चमोली तृप्ति भट्ट ने एक पत्रकार पर नाराजग़ी जाहिर की। पत्रकारों नेे डीएम स्वाति भदौरिया से मिलकर  आपत्ति दर्ज कराई है।

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने एक पत्रकार को फोन पर एसपी द्वारा मानहानि का केस दर्ज करने की बात कही, और एसपी के सामने पेश होने को कहा ,जिसके बाद दूसरे दिन  पत्रकार ने खंडन भी अपने समचार पत्र में प्रकाशित कर दिया था। लेकिन इससे पत्रकारों में आक्रोश व्याप्त है और उन्होंने पुलिस की ख़बरों का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है। पत्रकारों में इस बात को लेकर गुस्सा है कि वह पुलिस की सभी छोटी बड़ी खबरें छापते रहते हैं और पुलिस का मनोबल बनाए रखते हैं लेकिन अगर कभी पत्रकार  पुलिस को परेशानी होने वाली खबर छाप दें तो पुलिस अधीक्षक का इस तरह का रवैया अच्छा नहीं है।

वहीं एसपी चमोली का कहना है कि जिस समय पांडाल गिरने की घटना हुई ,”उस वक्त में कार्यक्रम स्थल में ही मौजूद थी,लेकिन कार्यक्रम में मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो एसपी चमोली तृप्ति भट्ट और जिलाधिकारी चमोली स्वाति भदौरिया ने कार्यक्रम स्थल में हुई हल्की बारिश के बाद जनपद के अलग-अलग थानों द्वारा बनाई झांकियों का निरक्षण किया जिसके बाद एसपी और जिलाधिकारी कार्यक्रम स्थल से चले गए थे।”

दोनों अधिकारियों के मैदान से बाहर जाने के 25 मिनट बाद स्टेज का पाण्डाल भारी बारिश के चलते कार्यक्रम प्रस्तुति के दौरान भरभरा कर गिर पड़ा,गनीमत रही कि बड़ा हादसा होने से टल गया,क्योकि स्टेज पर लाइटिंग की गई थी ,और पांडाल टूटते ही लाईट गुल हो गई ,अगर लाइट गुल नही होती तो मंच पर मौजूद कलाकारों को करंट लग सकता था।
इस प्रकरण मे पुलिस की कार्य प्रणाली से खफा चमोली के पत्रकारों ने भी प्रेस क्लब चमोली में बैठक कर चमोली पुलिस से संवाद समाप्त करते हुये एसपी चमोली के व्हाट्सएप ग्रुप से किनारा कर दिया ,जिसमे कि पुलिस के द्वारा प्रेस नोट जारी किए जाते हैं।

इस संबंध में पत्रकारों ने श्रमजीवी पत्रकार संग़ठन के प्रदेश अध्य्क्ष के नेतृत्व में पुलिस द्वारा पत्रकारों पर हो रहे उत्पीड़न की शिकायत को लेकर डीएम स्वाति एस भदौरिया से भी मुलाकात की ,हालांकि अब पत्रकारों और पुलिस के बीच विवाद गहराता ही जा रहा है।

%d bloggers like this: