पहाड़ों की हकीकत

प्रधान हों तो दिनेश नेगी जैसे। उनकी सोच ने स्वच्छ भारत अभियान को दिया हौसला

इंद्रजीत असवाल

एक अलग सोच प्रधान की स्वच्छ भारत अभियान की ओर

पौड़ी। बात जनपद पौड़ी गढ़वाल लैंसडोन विधानसभा क्षेत्र रिखणीखाल के भयानशू ग्राम सभा के प्रधान दिनेश नेगी की है। उन्होंनेे स्वजल से व मनरेगा से यदि शोचालय बनाने के लिए सरकार ने प्रेरित किया तो इस योजना के तहत पहले शोचालय बनाना है, फिर पैसे मिलते थे। कुछ परिवार आर्थिक रूप से कमजोर परिवार छूट गए,
तो प्रधान ने देखा कि गांव के कुछ गरीब तबके के लोग जो शोचालय पहले नहीं बना सकते थे, उन्होनें हिमालयन इंस्टीट्यूट जोलीग्रांट से अपने गांव के लिए मदद मांगी। जिससे उनको 20 लाख रुपए मिले, जिससे प्रधान ने अपने गाँव में पर्त्येक परिवार के घर में पानी का कनेक्शन लगवाया व जिनके शोचालय नहीं बने थे, उनके शौचालय बनवाये।
गाँव में लोग पुराने जल स्रोत पर कपड़े धोते थे, तो प्रधान  ने वहाँ पर भी शोचालय बना दिया।

जब प्रधान से हमने पूछा गया कि यहाँ पर क्यों बनाया तो उनका कहना था कि गांव में जब कोई प्रोग्राम होता है या लोग कपड़े धोने आते हैं। उन्हें खुले में शोच जाना पड़ता था, लेकिन अब उन्हें यहां पर भी खुले में नही जाना पड़ेगा।


अभी प्रधान का कहना है कि उनकी ग्राम सभा में एक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र व बरात घर की जरूरत है। सरकार से अपील है कि हमारी ग्रामसभा को ये दोनों मांग पूरी की जाए। साथ ही कुछ cc मार्ग भी चाहिये। प्रधान की नेक सोच को सलाम। यदि इसी तरह सभी प्रधान कोशिश करें तो पहाड़ का विकास संभव है।

Our Youtube Channel

%d bloggers like this: