एक्सक्लूसिव सियासत

प्रकाश पांडे मामले में मुखर भाजपा विधायक की बैटिंग से बैकफुट पर भाजपा

भूपेंद्र कुमार
हल्द्वानी के कालाढूंगी निवासी प्रकाश पांडे के परिजनों को 10 लाख रुपये देने के आश्वासन  मुकरी भाजपा सरकार की वादाखिलाफी से भाजपा के विधायक बंशीधर भगत मुखर हो गए हैं।
 बंशीधर भगत ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर वादे के मुताबिक तत्काल दस लाख रुपए मृतक के परिजनों को देने का अनुरोध किया है।
 दरअसल 10 जनवरी को जनता दर्शन में जहर खाने वाले ट्रांसपोर्टर प्रकाश पांडे की मौत के बाद हल्द्वानी में तमाम लोग काफी आक्रोशित थे। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मृतक के परिजनों को 10 लाख रुपये देने का आश्वासन स्थानीय विधायक बंशीधर भगत को दिया था।
 बंशीधर भगत ने यह बात जिलाधिकारी नैनीताल को बताई और जिलाधिकारी नैनीताल ने घोषणा कर दी कि सरकार मृतक के परिजनों को दस लाख रुपए देगी। किंतु बाद में शासन की ओर से 10 लाख रूपये देने की बात परवान नहीं चढ़ पाई।
 इससे हल्द्वानी में लोग और भी अधिक आक्रोशित हो गए। नैनीताल के जिलाधिकारी ने भी राहत राशि देने की बात विधायक के पाले में डाल दी।
 विधायक बंशीधर भगत ने अपना दामन बचाने के लिए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को पत्र लिखकर उन्हें उनका आश्वासन याद दिलाते हुए जल्दी ही मृतक के परिजनों को धन अवमुक्त करने का निवेदन किया है।
 बंशीधर भगत ने मुख्यमंत्री को अपने पत्र में लिखा है कि उनके आश्वासन के बाद मृतक के परिजनों ने उनका दाह संस्कार शांतिपूर्वक कर दिया था। अतः स्वीकृत धनराशि जारी की जाए। ताकि परिवार का भरण पोषण उचित प्रकार से हो सके।
 प्रकाश पांडे की आत्महत्या के बाद जैसे ही सरकार ने मृतक के परिवार को दस लाख रुपए देने और परिवार को नौकरी देने की घोषणा की वैसे ही आत्महत्या की धमकी देने वालों के दर्जनों फोन शासन और सरकार के नुमाइंदों को आने लग गए थे।
 इस से सरकार को लगा कि यदि मृतक के परिजनों को यह ध्यानधन दिया गया तो आत्महत्या के प्रति निराश लोगों का रुझान बढ़ सकता है। लगातार आने वाले इस तरह की फोन कॉल से सरकार ने आखिरी वक्त पर अपने कदम पीछे खींच लिए ।
अब कालाढूंगी के भाजपा विधायक बंशीधर भगत एक तरफ जनता के आक्रोश के निशाने पर हैं तो दूसरी तरफ वह सरकार से भी भिड़ने की मुद्रा में हैं ।
error: Content is protected !!
%d bloggers like this: