खुलासा

नया मोड़ :रोहित की हत्या अवैध संबंध नहीं, बल्कि संपत्ति के लिए हुई  !

कृष्णा बिष्ट 

रोहित शेखर के संबंध पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के ओएसडी राजीव की पत्नी से नहीं थे, बल्कि यह बात केवल जांच की दिशा घुमाने के लिए उछाली जा रही थी। रोहित शेखर की मां उज्जवला शर्मा ने इस बात को सिरे से खारिज किया है और कहा कि राजीव और उनकी पत्नी 40 साल से स्वर्गीय तिवारी और उनकी सेवा में है उज्वला शर्मा ने रोहित शेखर की पत्नी अपूर्वा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि उनकी पत्नी की नजर रोहित शेखर की संपत्ति पर थी।
 अपूर्वा सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस करती है और यह घर सुप्रीम कोर्ट से पास पड़ता है, लिहाजा वह इसे हथियाना चाहती थी।
 रोहित शेखर का भाई सिद्धार्थ संतान पैदा करने में सक्षम नहीं था इसलिए उसने शादी नहीं की थी। अपूर्वा के मन में यह बात थी इसलिए अपूर्वा ने सोचा कि रोहित की हत्या करने पर सारी संपत्ति की मालकिन वही हो जाएगी।
 सिद्धार्थ राजीव के पुत्र के नाम अपनी कुछ संपत्ति करना चाहते थे लेकिन अपूर्वा इस निर्णय के खिलाफ थी और इस बात से काफी नाराज भी थी।
 दूसरी ओर अपूर्वा और रोहित की भले ही एक साल पहले लव मैरिज हुई थी लेकिन तत्काल बाद ही उन्होंने अलग अलग सोना-रहना शुरू कर दिया था। यहां तक कि दोनों फेसबुक पर भी एक दूसरे की फ्रेंड लिस्ट में नहीं थे और शादी की फोटोग्राफ के अलावा उन्होंने आपस में एक दूसरे की कोई फोटो भी कभी शेयर नहीं की। यही नहीं रोहित शेखर ने अपनी फेसबुक प्रोफाइल में खुद को अविवाहित बताया है।
ऐसे में अब दिल्ली क्राइम ब्रांच की जांच इस एंगल पर आकर टिक गई है कि एक तो अपूर्वा और रोहित के संबंध इतने खराब हो चुके थे कि दो बार इस घर से पुलिस को फोन तक किए गए थे, तथा दूसरी ओर संपत्ति बंटवारे से अपूर्वा खफा थी।
 यह दोनों कारण ही रोहित की मौत की सबसे बड़ी वजह बन गए।
 हालांकि रोहित के ससुर पद्माकर शुक्ला ने अपनी बेटी अपूर्वा का बचाव करते हुए कहा कि वह ऐसा नहीं कर सकती।
 लेकिन मृतक रोहित की मां उज्वला शर्मा अपूर्वा के खिलाफ पूरी तरह आक्रमक हो गई हैं और रोहित की मां ने कहा कि अपूर्वा की नजर रोहित की संपत्ति पर थी और इसके बारे में वह जल्दी ही बड़ा खुलासा करेगी।
दिल्ली क्राइम ब्रांच अब मृतक रोहित की मां से भी राज उगलवाने की तैयारी कर रही है। गौरतलब है कि शनिवार को दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम ने लगातार 8 घंटे तक रोहित शेखर की पत्नी अपूर्वा, ओएसडी राजीव, घरेलू नौकर गोलू और ड्राइवर अभिषेक सहित भाई सिद्धार्थ से भी लंबी पूछताछ की थी। यह सब लोग घर में ही एक तरह की हिरासत में रखे गए हैं और किसी को भी बाहर जाने की इजाजत नहीं है।
सूत्र बताते हैं कि जल्दी ही पुलिस इस परिवार के अपूर्वा और उसके घरेलू नौकर को गिरफ्तार करके कोर्ट मे रिमांड के लिए पेश कर सकती है।

Add Comment

Click here to post a comment

Your email address will not be published.

%d bloggers like this: