एक्सक्लूसिव

आरटीआइ एक्सक्लूसिव : अटल आयुष्मान योजना पर महत्वपूर्ण खुलासा

कमल जगाती, नैनीताल

केंद्र सरकार की महत्वकांंक्षी आयुष्मान स्वास्थ्य योजना में प्रदेशभर के कुल 1347 मरीजों को जनवरी माह तक इलाज मिल सका था । ये खुलासा एक आर.टी.आई.में पूछे सवाल के जवाब में मिला है। आर.टी.आई.से खुलासा हुआ है कि कुल 374 इलाजों के क्लेमों पर सरकार ने ₹34,74,140/=(चौंतीस लाख चौहत्तर हजार और एक सौ चालीस)रुपया खर्च किया है।
हल्द्वानी नीवासी आर.टी.आई.कार्यकर्ता हेमंत गौनिया द्वारा पूछे गए सवालों के जवाब में महानिदेशक चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण कार्यालय देहरादून से जवाब प्राप्त हुआ है । आर.टी.आई.कार्यकर्ता ने जरूरतमंद जनता को दी जा रही सुविधा पर निम्न सवाल किये हैं जिनका अटल आयुष्मान योजना प्रबंधन की तरफ से जवाब दिया गया है।


सवाल(1):- अटल आयुष्मान स्वास्थ्य योजना में कितने लोग पंजीकृत हैं और कितने लोगों का इलाज हो चुका है ?
उत्तर(1) 16 जनवरी 2019 को दिए अपने जवाब में अटल आयुष्मान उत्तराखण्ड योजना के निदेशक प्रशासन अभिषेक त्रिपाठी ने कहा है कि 10 जनवरी 2019 तक कुल 3,98,945 लोगों का पंजीकरण और 2,41,414 कार्ड बनाए जा चुके हैं ।

सवाल(2):- योजना में कितने लोगों को किस किस अस्पताल में इलाज मिला है ?
उत्तर(2):- बताया गया है कि कुल 1347 लोगों को विभिन्न अस्पतालों में इलाज मुहैय्या कराया गया है।

सवाल(3):- सरकारी अस्पतालों में कितने मरीजों को इलाज मिला और उनपर कितना धन खर्च किया गया ? योजना की नियमावली उपलब्ध कराते हुए मरीज पर कितना धन खर्च होगा इसकी जानकारी दें ?
उत्तर(3):- योजना के तहत 1347 लोगों को दिए इलाज में से 374 क्लेमों पर ₹34,74,140/=(चौंतीस लाख चौहत्तर हजार और एक सौ चालीस रुपया)खर्च किया गया है।

सवाल(4):- योजना में किस निजी कंपनी से करार किया गया है, कम्पनी का नाम उपलब्ध कराएं ?
उत्तर(4):- आयुष्मान योजना का करार एफ.एच.पी.एल.नामक सहायता एजेंसी द्वारा कराया जा रहा है।

सवाल(5):- योजना में किस निजी अस्पताल से करार हुआ है, उसकी प्रमाणित कॉपी उपलब्ध कराएं ?
उत्तर(5):- गवरमेंट बेस अस्पताल अल्मोड़ा, मोहन सिंह जीना, सी.एच.सी.बैजनाथ, सी.एच.सी.गैरसैण, सी.एच.सी.घाट, सी.एच.सी.विकासनगर, कालिंदी अस्पताल देहरादून, कृष्णा मेडिकल सेंटर, पंडित दीं दयाल उपाध्याय गवर्मेंट अस्पताल देहरादून, मैक्सवेल जनजीवन अस्पताल हरिद्वार, सार्थक नर्सिंग होम हरिद्वार, बी.डी.पाण्डे अस्पताल नैनीताल, बृजेश अस्पताल और बॉम्बे हॉस्पिटल हल्द्वानी, सी.एच.सी.बीरोंखाल, सी.एच.सी.थलीसैण, जिला महिला अस्पताल पौड़ी, बी.डी.पाण्डे जिला अस्पताल पिथौरागढ़, जिला अस्पताल रुद्रप्रयाग, डी.एच.बौराड़ी123 टिहरी, अली नर्सिंग होम और आंनद अस्पताल जिला उधम सिंह नगर, जिला अस्पताल उत्तरकाशी समेत कुल 69 निजी और सरकारी अस्पतालों में ये सुविधा उपलब्ध कराई गई है।

%d bloggers like this: