एक्सक्लूसिव

सुपर खुलासा : गेस्ट टीचर भर्ती घोटाले में नया खुलासा 

उत्तराखंड में गेस्ट टीचर की भर्ती पर पहले दिन से ही नजर बनाए रखने वाले आपके प्रिय पोर्टल पर्वतजन की खबरों पर भले ही अब मुख्य शिक्षा अधिकारियों ने गेस्ट टीचर की भर्तियों को स्थगित करना शुरू कर दिया है लेकिन इन भर्तियों में व्यापक स्तर पर धांधलिया सामने आ रही हैं।

आखिर क्या कारण है कि सुप्रीम कोर्ट से भर्तियों पर स्टे होने के बावजूद शिक्षा विभाग ने बैक डेट में भर्तियां और काउंसलिंग की प्रक्रिया करवाई !! और यदि शिक्षा विभाग सही है तो फिर पर्वतजन में खबर प्रकाशित होने के बाद आखिर भर्ती प्रक्रिया क्यों स्थगित कर दी गई !!

आइए आपको देहरादून के किस्से से रूबरू कराते हैं।

दून मे जीरो टोलरेंस का खून

देहरादून के मुख्य शिक्षा अधिकारी एसबी जोशी ने एक दिसंबर को प्रकाशित किए गए विज्ञापन में बताया है कि गेस्ट टीचर्स के लिए काउंसलिंग की तिथियां 3 और 4 जनवरी रखी गई। जाहिर है कि कई लोग 4 जनवरी को भी काउंसलिंग करवाने का मन बना कर आए होंगे, किंतु देहरादून के मुख्य शिक्षा अधिकारी श्री जोशी ने 3 तारीख को ही काउंसलिंग करा कर रिजल्ट जारी कर दिया।

बड़ा सवाल यह है कि जब काउंसलिंग की तिथियां 3 और 4 जनवरी रखी गई थी तो फिर एक दिन पहले ही 3 जनवरी को रिजल्ट जारी करने का आखिर कारण क्या रहा मिस्टर जोशी ??

जब मुख्य शिक्षा अधिकारी रहे श्री जोशी से इस बारे में सवाल पूछा गया तो उनसे जवाब देते नहीं बना।

पहले तो उन्होंने कहा कि सारे अभ्यर्थी 3 तारीख को ही आ गए थे इसलिए 3 को ही रिजल्ट जारी कर दिया गया।

जब उन्हें पूछा गया कि 4 तारीख को भी अभ्यर्थी आए थे और वह काउंसलिंग में भाग लेने से रह गए, क्योंकि विभाग ने 4 तारीख को भी काउंसलिंग की तिथि रखी थी। इस पर मुख्य शिक्षा अधिकारी कहने लगे कि “जो रह गए हैं उन्हें हमारे ऑफिस में भेज दीजिए। हम उनकी काउंसलिंग करा लेंगे।”

फिर जब पर्वतजन ने उनसे पूछा कि यदि आप आज काउंसलिंग कराने की बात कर रहे हो तो फिर सुप्रीम कोर्ट के स्टे के विषय में क्या कहना है !

इस पर फिर से मुख्य शिक्षा अधिकारी की बोलती बंद हो गई और उन्होंने कह दिया कि वह “ट्रांसफर हो गए हैं लिहाजा नए मुख्य शिक्षा अधिकारी से सुप्रीम कोर्ट के आदेश के विषय में बात कर लो।”

जब नई मुख्य शिक्षा अधिकारी आशा पैन्यूली से बात की गई तो उन्होंने यह कहते हुए पल्ला झाड़ दिया कि वह मीटिंग में है और फाइल देखने के बाद बता देंगी किंतु फिर उन्होंने कोई संपर्क नहीं किया।

पर्वतजन के प्रिय पाठकों से हमारा अनुरोध है आप बराबर अपने प्रिय पोर्टल पर नजर बनाए रखें। कुछ घंटों बाद हम करेंगे इस मामले में अब तक का सबसे बड़ा खुलासा !

बस आप इस खबर को अधिक से अधिक शेयर कीजिए, अपनी राय व्यक्त कीजिए और दिखा दीजिए सोशल मीडिया की ताकत !!!

Get Email: Subscribe Parvatjan

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: