ट्रेंडिंग

लिंग वर्गीकृत वीर्य उत्पादन करने वाला देश का पहला राज्य बना उत्तराखंड

अतिहिमीकृत वीर्य उत्पादन केन्द्र श्यामपुर ऋषिकेश में लिंग वर्गीकृत वीर्य उत्पादन प्रयोगशाला का लोकार्पण  हो गया है। इसी के साथ उत्तराखण्ड राज्य अब लिंग वर्गीकृत वीर्य उत्पादन करने वाला भारत वर्ष का प्रथम राज्य बन गया है।

अति हिमीकृत वीर्य उत्पादन केंद्र श्यामपुर का लोकार्पण अवसर पर  मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद्र अग्रवाल एवं पशुपालन मंत्री  रेखा आर्य ने  खुशी जाहिर की। इस मौके पर इस प्रयोगशाला का स्टेट ऑफ आर्ट निर्माण एजेंसी पेयजल निगम देहरादून यूनिट की भी सराहना की गयी।

लिंग वर्गीकृत वीर्य के उत्पादन से जहां एक ओर नर पशुओं की संख्या मे कमी आयेगी, वहीं दूसरी ओर 90 प्रतिशत बछिया पैदा होगी। इससे प्रधानमन्त्री  नरेंद्र मोदी का कृषको की आय 2022 तक दुगुना करने का लक्ष्य पूर्ण होगा।

इस अवसर पर प्रयोगशाला (निर्माण लागत 3.55 करोड़) के लोकार्पण के साथ ही पशुपालन विभाग एवं भेड़ एवं ऊन विकास बोर्ड की कुल 100 करोड़ की 12 योजनाओ का शिलान्यास मुख्यमन्त्री त्रिवेंद्र रावत  द्वारा  किया गया ।
प्रारम्भ मे लिंग वर्गीकृत वीर्य की उत्पादन लागत अधिक होने के कारण मुख्यमन्त्री जी के द्वारा प्रति खुराक रूपये 400.00 अनुदान के रूप मे भी देने की घोषणा की गयी है। जिसके उपरान्त कृषक को लगभग 300 रूपये मूल्य यह सेवा उपलब्ध हो जायेगी, जबकि बाजार मे यह सेवा रूपये 1000 से 1500 तक उपलब्ध है।
इस अवसर पर मुख्यमन्त्री एवं पशुपालन मंत्री रेखा आर्य द्वारा समेकित दुग्ध विकास योजना के अन्तर्गत कृत्रिम गर्भाधान कार्यकर्ताओ को बीस मोटर साईकिले निःशुल्क उपलब्ध करायी गयी। साथ ही 26 मत्स्य पालको को किसान क्रेडिट कार्डो का वितरण किया।
इस अवसर पर स्थानीय एवं पर्वतीय जनपदो से आये कृषको द्वारा हर्ष व्यक्त किया गया तथा यू0एल0डी0बी0 , पशुपालन विभाग एवं भारत सरकार एवं उत्तराखण्ड सरकार की सराहना की गयी है।

इस अवसर पर डा0 विनोद कुमार आर्य, उपाध्यक्ष उत्तराखण्ड पशुकल्याण बोर्ड एवं अनिता ममगाई, महापौर ऋषिकेश , डा0 आर0मीनाक्षी सुन्दरम् सचिव पशुपालन , डा0 के0के0 जोशी , निदेशक पशुपालन विभाग उत्तराखण्ड, डा0 एम0एस0नयाल, मुख्य अधिशासी अधिकारी उत्तराखण्ड लाईव स्टॉक डेवलेपमेंट बोर्ड, डा0 अविनाश आनन्द मुख्य अधिशासी अधिकारी भेड एवं ऊन विकास बोर्ड, डा0आर0एस0नेगी, डा0 असीम देव, डा0 पुनीट भटट, डा0 अमित अरोडा, डा0 कैलाश उनियाल एवं डा0 आशुतोष जोशी एवं अन्य स्टॉफ मौजूद था।

%d bloggers like this: