एक्सक्लूसिव पहाड़ों की हकीकत

हालात: इस गांव मे बचा है सिर्फ एक परिवार,वह भी चंद रोज का मेहमान

इंद्रजीत असवाल
सड़क के अभाव में हुआ बामण गाँव खाली। बचा है केवल एक परिवार
जनपद पौड़ी गढ़वाल उत्तराखंड विकासखंड रिखणीखाल के बामण गाँव में कभी बीस परिवार रहते थे परंतु सड़क के अभाव से आज इस गाँव में केवल एक ही परिवार बचा है

आपको अवगत करा दे कि बामण गाँव चारों ओर से जंगल से  घिरा हुआ है। जंगली जानवरों का खतरा हमेशा बना रहता है।
इस परिवार के मुखिया योगेश ध्यानी यहीं स्थानीय प्राथमिक विद्यालय बनगढ़ में अध्यापक हैं, जिस कारण उन्हें यहाँ रहना पड़ता है।
योगेश ध्यानी कहते हैं कि यदि हमारे यहाँ सड़क होती तो पलायन नहीं होता, वे भी तभी तक गाँव में हैं जब तक स्कूल में हैं, जब ट्रांसफर हो जाएगा तो मजबूरन उन्हें भी गाँव छोड़ना पड़ेगा।

Our Youtube Channel

%d bloggers like this: