पहाड़ों की हकीकत

आजादी के बाद पहली बार लगा सरबडियार में बहुउद्देश्यीय शिविर

डीएम डा. आशीष चौहान लिख  रहें  हैं नई इबारत
11 वर्षीय रितिक को इलाज हेतु जिला चिकित्सालय भेजा
  
सर बडियार से  नीरज उत्तराखंडी 
उत्तरकाशी।  तहसील पुरोला के सीमांत क्षेत्र  सर बड़ियार  के आठ गांव  में आजदी के बाद पहली बार सोमवार को डीएम डा.आशीष चौहान ने बहुउद्देश्यीय शिविर लगाया।
आज़ादी के सात दशक  बाद भी क्षेत्र के  आधा दर्जन से अधिक गांव  मूलभूत सुविधाओं से महरूम है ।
उत्तरकाशी जिले की पुरोला तहसील का  सरबड़ियार क्षेत्र  में स्थित सर,कासलौ, डिगाडी,किमडार,छानिका, गौल,लेवटाडी  सहित  आठ गांव  के बाशिन्दे आजादी  के बाद से आज तक  मूलभूत सुविधाओं के लिए तरस रहे हैं।
डा आशीष चौहान सर बडियार क्षेत्र में पहुंचने वाले दूसरे जिला अधिकारी है। इससे पूर्व  अमित घोष सर बडियार पहुंचने वाले पहले जिला अधिकारी थे।
सर गांव में जिला अधिकारी डा आशीष चौहान की अध्यक्षता में आयोजित आयोजित बहुद्देशीय शिविर में सीमांत वासियों की समस्या सुनी गई तथा शिविर में  लगे विभिन्न विभागों के स्टाल के माध्यम से लोगों को जानकारी दी गई  तथा कुछ समस्याओं का मौके पर ही निस्तारण किया गया।

पुरोला तहसील मुख्यालय से 70किमी दूर सर बडियार क्षेत्र के  सर गांव में जिला अधिकारी डा आशीष चौहान की अध्यक्षता में बहुद्देशीय शिविर का आयोजन किया गया ।
जन की आशाओं और अपेक्षाओं पर खरे उतरने वाले जिले  के लोक प्रिय जिला अधिकारी डा आशीष चौहान ने पिछडे और सीमांत क्षेत्र सर बडियार के सर गांव पहुंच कर सीमांत वासियों की समस्या सुनने और करीब  से जानने तथा महसूस करने और यथा संभव निराकरण एवं समाधान के लिए  अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। तथा सडक निर्माण के लिए हरसंभव प्रयास करने का भरोसा दिलाया।
बताते चलें कि जिले के  संवेदनशील युवा लोक प्रिय जिला अधिकारी इससे पहले मोरी ब्लाक के सीमांत गांवों फिताडी, लिवाडी, गंगाड, पवाणी तथा ओसला में भी बहुद्देशीय शिविर लगाकर सीमांत वासियों की समस्या सुनने और ग्रामीण जीवन को समझने के लिए गांव का भ्रमण कर चुके हैं तथा कई गम्भीर बीमारी से पीड़ित मरीजों को अपने साथ ले जाकर इलाज करवा चुके हैं।

पुरोला विकास खण्ड के सीमांत  सरबडियार क्षेत्र  के सर गांव में कालिया नाग मन्दिर में जिलाधिकारी डा. आशीष चौहान की अध्यक्षता में बहुद्देशीय शिविर में जिलाधिकारी ने कहा कि गंगराली-सरबडियार सड़क वन भूमि हस्तांतरण शीघ्र कराया जायेगा। वर्षाकाल में जनता की सुविधा के लिए हलटी गाड में आपदा से ट्राली शीघ्र लगाई जायेगी। साथ ही जनता की मांग पर पुरोला से गंगराली तक टीजीएमओ की बस सेवा शीघ्र लगाई जायेगी। उन्होंने कहा कि सरबडियार के आठ गांवों में संचार व्यवस्था हेतु शीघ्र जीओ या बीएसएनएल से वार्ता कर टावर लगाये जायेंगे। क्षेत्र में होम-स्टे योजना को बढ़ावा दिया जायेगा। इसके लिए जिला पर्यटन अधिकारी व अग्रणी बैंक अधिकारी सूची तैयार करें। जिलाधिकारी ने डिगांडी व सरगांव के लिए नई पेयजल लाईन प्रस्ताव बनाने के निर्देश जल निगम को दिये। उन्होंने वर्षाकाल में सरबडियार में गर्भवती महिलाओं को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए एएनएम तैनात करने के निर्देश देते हुए सीजनल सब्जी बीज व फल पौध मुफ्त वितरण करने को मुख्य उद्यान अधिकारी व कृषि अधिकारी को दिये। साथ ही फार्म मशीनरी बैंक सरबडियार में बनाने के निर्देश खण्ड विकास अधिकारी को दिये। मनरेगा के अन्तर्गत आठ गांवों में बकरी-बाड़े व गौशाला बनाने को भी कहा। अग्रणी बैंक अधिकारी को बैंकिग सुविधा देने व मत्स्य विभाग को मत्स्य टैंक बनाने के साथ ही उज्जवला गैस संयोजन देने के निर्देश पूर्ति अधिकारी को दिये। जिलाधिकारी ने कहा कि शिविर में जो भी समस्याएं उठी है उन्हें युद्ध स्तर पर निस्तारण करना अधिकारी सुनिश्चित करें।

कार्यक्रम में रेडक्रास द्वारा कम्बल, टार्च, तौलिया, कूड़ादान, बाल्टी आदि सामाग्री वितरित की गयी। उद्यान, कृषि, समाज कल्याण, बाल विकास, स्वास्थ्य, ग्राम्य विकास, पशुपालन, राजस्व, विभाग, पंचायत राज विभाग द्वारा स्टाल लगाकर शिविर में विस्तृत जानकारियां दी गई। पंचायत राज विभाग द्वारा 20 परिवार रजिस्ट्रर की नकल, 05 जन्म प्रमाण व 02 मृत्यु प्रमाण पत्र जारी किये। इस तरह मत्स्य, पशुपालन, कृषि उद्यान, सहकारिता विभाग द्वारा 100 काश्तकारों को योजनाओं की जानकारियां दी। दवाओं का वितरण किया गया । जिलाधिकारी ने 11 वर्षीय रितिक को इलाज हेतु जिला चिकित्सालय भेजा।
शिविर में 50 लोगों से अधिक लोगों को वृद्ध व विधवा पेंशन ,वहीं 150 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया। इस दौरान डीएम ने डिगाडी, सर गांव मैं स्कूल का  निरीक्षण कर  जर्ज भावनों को ठीक करने की निर्देश दिये।
शिविर को सांसद प्रतिनिधि दिनेश खत्री  जिलाध्यक्ष भाजपा श्याम डोभाल, अमित चन्द शाह, अरविन्द दास ने भी सम्बोधित किया।
इस अवसर पर उपजिलाधिकारी अनुराग आर्य,  जेष्ठ प्रमुख प्रकाश असवाल, प्रधान श्रीमती ऐलमा देवी,  सामाजिक कार्यकर्ता कैलाश रावत ,मुख्य उद्यान अधिकारी प्रभाकर सिंह, सहायक निदेशक मत्स्य प्रमोद शुक्ला, पूर्ति अधिकारी गोपाल मटूड़ा, महाप्रंबधक उद्योग एसएस रावत, अग्रणी बैंक प्रबंधक बीएस तोमर, सहकारिता सहायक प्रबंधक एनएस रावत, समाज कल्याण अधिकारी हेमलता पाण्डे, कृषि अधिकारी रामनरेश आदि मौजूद थे।

Our Youtube Channel

%d bloggers like this: