पहाड़ों की हकीकत

18 साल की काजल को किसी फरिश्ते का इंतजार

नीरज उत्तराखंडी

उत्तरकाशी। पढ़ाई की उम्र में असाध्य रोग से जूझ रही काजल को मदद की दरकार है। काजल की गर्दन पर बना फोड़ नासूर बनता जा रहा है। माता पिता खेती किसानी कर किसी तरह जीवन यापन कर रहे हैं।
बेटी काजल को किसी तरह इंटर तक पढ़ाया और बीए में प्रवेश भी कराया। माता-पिता को अपनी लाडली और होनहार बेटी पर भरोसा था कि वह उनके सपनों और उम्मीदों पर खरा उतरेगी और उनका आने वाले समय अच्छा होगा, लेकिन नियति को कुछ और ही मंजूर था। काजल के गर्दन पर फोड़ा बना जो काफी इलाज के बाद भी ठीक नहीं हो पाया है। फोड़ा अब नासूर बनता जा रहा है। माता-पिता के लिए कंगाली में आटा गीला वाली स्थिति पैदा हो गई, लेकिन फिर भी हिम्मत से काम लिया। जान है तो जहान है। बदहाल आर्थिक स्थिति में पिता ने मजबूर होकर बेटी के इलाज के लिए अपना खेत बेच दिया तो मां ने अपने गहने बेच दिए। फिर भी बेटी का इलाज नहीं हो पाया।


उत्तरकाशी में विकासखण्ड पुरोला के ठडूंग की रहने वाली 18 वर्षीय काजल की यही हकीकत है। वह विगत 11 माह से बीमार है। पिता पप्पू लाल किसान तथा माता प्रमिला गृहणी है। उनकी चार संतान में काजल सबसे बड़ी बेटी है। एक बेटी सुचिता है, जो हाईस्कूल में है और दो बेटे सचिन और अरुण भी हाईस्कूल तथा नवीं में पढ़ रहे हैं।


प्रमिला कहती है कि उनकी बड़ी बेटी काजल 11 माह से बीमार है। जिसके इलाज पर अब तक 6 लाख खर्च हो चुके हैं। इतनी बड़ी धनराशि जुटाना बड़ा मुश्किल था, इसलिए उन्हें एक लाख 30 हजार में अपना खेत तथा 1 लाख 20 हजार में अपने गहने बेचने पड़े, लेकिन उनकी लाडली अभी भी ठीक नहीं हो पायी है। वे काजल को विकासनगर, देहरादून, दिल्ली, देहरादून में दिखा चुके है लेकिन कोई लाभ नहीं हुआ। काजल की मां प्रमिला रुंधे गले से कहती है कि भगवान को शायद यही मंजूर है। मुसीबत की इस घड़ी में रिश्तेदारों ने जरूर सहयोग किया। अब उनके पास सिवाय उम्मीद के कुछ भी शेष नहीं है। क्षेत्र के विधायक राजकुमार ने 10 हजार का सहयोग दिया।


बहरहाल, काजल को आर्थिक मदद की दरकार है। एक बेटी को इलाज के लिए किसी फरिशते का इंतजार है, जो उसे नया जीवन दे सके। क्या शासन प्रशासन तथा क्षेत्र के जनप्रतिनिधि या फिर कोई स्वयंसेवी संस्था संज्ञान लेकर एक आर्थिक रूप से बदहाल परिवार की बीमार बेटी की मदद को आगे आकर उसका सहयोग करेंगे। जो कोई भी काजल की आर्थिक मदद करना चाहते हैं वे काजल की माता प्रमिला के पंजाब नेशनल बैंक में खाता संख्या 2780000100085924
Ifsc code- punb0278000
पर धनराशि जमा कर मदद कर सकते हैं।

%d bloggers like this: