पहाड़ों की हकीकत

सवाल:”डीएम के ट्रांसफर पर बोलने वाले डाक्टर के जाने पर चुप क्यों !

तीन महीने मे डीएम के ट्रान्सफर पर हँगामा करने वाली बीजेपी तीन महीने मे डाक्टर के ट्रान्सफर पर चुप क्यों!  बोले विजयपाल सजवाण पूर्व विधायक कॉंग्रेस, गंगोत्री 
गिरीश गैरोला
गंगोत्री से  पूर्व कांग्रेसी विधायक विजयपाल सजवाण ने ट्रान्सफर–ट्रान्सफर के खेल मे राज्य की बीजेपी सरकार को आड़े हाथ लेते हुए सवाल उठाया है कि पूर्व मे डीएम के कम समय मे ट्रान्सफर पर हो हँगामा करने वाली बीजेपी आज तीन महीने मे एक अकेले जिला अस्पताल के फिजीशियन के ट्रान्सफर पर चुप क्यों  है ?
  उन्होने चेतावनी दी  कि  यदि 15 दिनो ,मे अस्पताल मे फिजीशियन की तैनाती नहीं हुई तो पार्टी बड़ा आंदोलन छेड़ने को मजबूर होगी। गौर तलब है कि उत्तरकाशी जिला अस्पताल मे एक मात्र फिजीशियन डॉ अमित रौतेला के स्थान पर डॉ जगदीश ध्यानी को भेजा गया था किन्तु तीन महीने मे ही उन्हे वापस बुला लिया गया।
 हैरान करने वाली बात ये रही कि ट्रान्सफर मे राज्य पाल से विशेष स्वीकृति ली गयी थी। आपदा की दृष्टि   से अतिसंवेदनशील जनपद मे अपने जिले के अलावा जिला अस्पताल पर टिहरी जनपद के प्रतापनगर तहसील का भी अतिरिक्त मरीजों का बोझ है, जिसके लिए फिलहाल कोई फिजीशियन नहीं है।
 जिला अस्पताल मे करोड़ों रुपये की सीटी स्कैन भी हाल मे ही लगी थी और उसे आॅपेरेट करने वाले वरिष्ठ डॉ शिव कुढ़ियाल भी जिला अस्पताल मे भी मौजूद है किन्तु बिना फिजीशियन के मशीन का क्या उपयोग हो सकेगा।
ऐसे मे अन्य डॉ मे भी बड़ी सिफारिश लगाकर मैदान मे जाने की होड़  नहीं लगेगी कहा नहीं जा सकता।जानकारों  की माने तो डाक्टर की कमी होने की दशा मे यात्रा मार्ग की तर्ज पर निश्चित समय के लिए डाक्टर की तैनाती की जा सकती है, जिसके लिए इच्छा शक्ति की जरूरत महसूस की जा रही  है।

Parvatjan Android App

Get Email: Subscribe Parvatjan

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: