Uncategorized पर्यटन

दो अक्तूबर तक खुल जाएगा यमनोत्री हाइवे

  • दो अक्तूबर तक खुल जाएगा यमनोत्री हाइवे

ओजरी के पास 19 दिनों से बंद है यमनोत्री  मार्ग
वैकल्पिक पैदल मार्ग से चल रही है यात्रा
यात्रियों की तादाद पर नहीं पड़ा कोई असर – डीएम का बयान।
गिरीश गैरोला उत्तरकाशी
गांधी जयंती के दिन दो अक्तूबर तक ओजरी के पास मलवा आने से बंद  यमनोत्री  राज मार्ग खुल जाएगा और वहां फंसे हुए वाहन सड़क मार्ग से निकाले जा  सकेंगे। फिलहाल वैकल्पिक पैदल मार्ग से यात्रा चल रही है। डीएम ने बताया कि इस दौरान यात्रियों की तादाद मे कोई अंतर नहीं आया है। बीस दिनो से करीब 20हजार यात्री इस तरह से यमनोत्री  धाम की  यात्रा कर चुके हैं।
गौरतलब है कि विगत 10 सितंबर से यमनोत्री  राजमार्ग ओजरी के पास पहाड़ी गिरने से बंद हो गया था। इस बीच जिला प्रशासन ने ढाई किमी पैदल यात्रा मार्ग से यात्रियों को पार करवाया और 19 सितंबर से वैकल्पिक सड़क मार्ग पर भी काम शुरू किया। डीएम डॉ आशीष कुमार ने बताया कि अब तक 2 किमी  और 170 मीटर  सड़क काटी जा चुकी है और केवल 400 मीटर सड़क और काटी जानी बाकी है। मौके पर 6 जेसीबी और 6 पोक लैंड मशीन के साथ लोक  निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता खुद मौके पर ही कैंप कर रहे हैं।सड़क के संरेखण को लेकर ग्रामीणों के मुआवजे का विवाद सुलझाया जा चुका है।
डीएम ने कहा कि इस दौरान यात्रियों की तादाद मे  कोई अंतर नहीं पड़ा है और यात्री सुविधाओं के साथ स्थानीय ग्रामीणों  की सुविधा का भी ध्यान रखा जा रहा है। ओजरी के 13 बच्चों को हाइस्कूल कुथनौर मे प्रशासन के खर्चे पर पढ़ने को भेजा जा रहा है।प्रभावित इलाके मे 18 गर्भवती महिलाओं मे से 10 का प्रसव कराया जा चुका है और बाकी 8अन्य प्रसूताओं को भी बड़कोट अस्पताल पहुंचाया जा रहा है।डीएम की  मानें तो इलाके मे  राशन की  कोई किल्लत  नहीं है। यात्रा  काल को देखते हुए पूर्व मे ही अतिरिक्त राशन  यहां भेजा जा चुका है।
 पैदल मार्ग के चलते घरेलू गैस का अतिरिक्त ढुलान भी जिला प्रशासन द्वारा वहन किया जा रहा है  और ग्रामीणों को नियत कीमत पर ही घरेलू  गैस उपलब्ध कराई जा रही है। सड़क के संरेखण मे विवाद को देखते हुए डीएम ने साफ किया कि अवरुद्ध एनएच के नीचे से वैकल्पिक मार्ग लोक निर्माण विभाग दारा  बनाया जा रहा है और फिलहाल मूल मार्ग ही एनएच का हिस्सा है उस पर पहाड़ी से पत्थरो का गिरना थमने के बाद उसे भी खोला जा रहा है।डीएम ने कहा कि भू वैज्ञानिकों की रिपोर्ट आने के बाद ही मार्ग  बदला जा सकेगा ।

Parvatjan Android App

Get Email: Subscribe Parvatjan

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: